35 Peacock Information in Hindi | मोर के बारे में जानकारी व रोचक तथ्य

मोर हमारे देश का राष्ट्रीय पक्षी है जो की दिखने में बेहद खूबसूरत होते हैं। इनके रंग-बिरंगे चमकदार पंख हर किसी को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। आज हम मोर के बारे में जानकारी (Information About Peacock In Hindi) देने वाले हैं ये मयूर की जानकारियाँ बेहद रोचक, मजेदार और ज्ञानवर्धक है।आप नीचे दिए गये lines को पढ़कर मोर पर निबंध (essay on peacock in Hindi) भी लिख सकते हैं।

मोर के बारे में जानकारी

मोर भारत के साथ-साथ श्रीलंका और म्यांमार का भी राष्ट्रिय पक्षी है। मोर को पक्षियों का राजा कहा जाता है। मोर भारत देश के कई जगहों पर पाए जाते हैं जैसे – उत्तर प्रदेश , हरियाणा , राजस्थान आदि। मोर एक बड़े आकार के पक्षी होते हैं जिनके शरीर की लम्बाई 100 सेमी. से 115 सेमी. तक होती है और इनकी ऊंचाई 200 सेमी. से भी अधिक हो सकती है। एक नर मोर का वजन 4-6 किलो तक हो सकता है वहीँ मादा 4 किलो तक भारी हो सकते हैं।नर के पूँछ पर रंग-बिरंगे पंख लगे होते हैं और ये बसंत ऋतु में अपने पंख फैलाकर नृत्य करते हैं तो बड़े ही खूबसूरत लगते हैं। इनके सिर पर कलगी भी बनी होती है। मोर एक वन्य पक्षी है जो की ज्यादातर खुले जंगलों में रहते हैं।

information-about-peacock-in-hindi

Amazing Peacock Information In Hindi

1. क्या आप जानते हैं भारत में मोर को राष्ट्रीय पक्षी कब घोषित किया गया? मोर 1963 से भारत का राष्ट्रीय पक्षी है।

2. लगभग 4.9 फीट (1.5 मीटर) बड़े पंखों के साथ मोर धरती पर सबसे बड़े उड़ने वाले पक्षियों में से एक है।

3. मोर की तीन प्रमुख प्रजातियाँ पायीं जाती हैं, भारतीय मोर, अफ्रीकी कांगो मोर और हरा मोर। तीनों प्रजातियां एशिया की मूल निवासी हैं, लेकिन आज आप उन्हें अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के कुछ हिस्सों में भी देख सकते हैं।

4. जब मोर पहली बार पैदा होते हैं, तो उनके पास पूंछ नहीं होती है। जब वे तीन साल के हो जाते हैं तभी वे खूबसूरत दिखने लगते हैं।

5. मोर पक्षी जमीन पर रहने वाले होते हैं और वे खेतों, जंगलों और गर्म क्षेत्रों में निवास करना पसंद करते हैं। वे ऐसे क्षेत्रों में रहना पसंद करते हैं जहाँ से वे पौधों और पेड़ों तक आसानी से पहुँच सकें।

6. मयूर प्रमुख रूप से भारत, श्रीलंका और बर्मा में पाए जाते हैं।

7. मोरों की दौड़ने की औसत गति 10 मील प्रति घंटा (16 किलोमीटर प्रति घंटा) है।

8. मोरों को इंग्लैंड और जापान में कैद करके रखा जाता है। ऐसा इसलिए ताकि वहां उनकी आबादी बढ़ाई जा सके।

9. मोर क्या खाता है? मोर सर्वाहारी पक्षी होते हैं, और वे मुख्य रूप से पौधों, फलों, बीजों, फूलों की पंखुड़ियों, चींटियों, कीड़े-मकोड़ों, टिड्डियों आदि को खाते हैं। अनाज मोरों का सबसे आम भोजन है। हालाँकि, मोर किसी भी खाद्य पदार्थ को खा सकता है, फिर चाहे वह कोई जानवर हो या पौधा।

10. मोर छोटे सरीसृपों को भी खाते हैं, जैसे कि कोबरा सांप के बच्चे, उभयचर, तितली, मक्खी, चूजे और चूहे आदि।

11. मयूर अकेले रहना पसंद नही करते, वे छोटे समूहों में रहते हैं क्योंकि वे अत्यधिक मिलनसार और आश्रित पक्षी हैं।

12. एक मयूर एक बार में छह अंडे दे सकता है।

13. ये ज्यादातर दोपहर के समय अंडे देना पसंद करते हैं।

14. मोर को वसंत ऋतू के दौरान अपने चमकदार सुंदर पंखों को फैलाते हुए देखा जा सकता है।

15. आमतौर पर मयूर आकार, रंग और पंख की गुणवत्ता के अनुसार अपने साथी का चयन करते हैं।

16. नर मोरों के केवल एक साथी नही होते इनके कम से कम दो से पांच महिला साथी होते हैं।

18. मोर की पूँछ में 200 से भी अधिक चमकीले रंग के पंख होते हैं और लगभग सभी पंख में बड़े-बड़े आँख के धब्बे बने होते हैं।

19. मयूर की उम्र 10 से 25 साल तक होती है।

20. मोर का वैज्ञानिक नाम पावो क्रिस्टेट्स है।

21. नर मोर मादा मोर के मुकाबले ज्यादा खूबसूरत होते हैं क्योंकि नर पक्षी के पूँछ पर रंग-बिरंगे पंख होते हैं जबकि मादा के नही होते।

22. मयूर हर साल अगस्त के महीने में अपने पंख त्याग देता है और फिर उसके शरीर में नये पंख उगते हैं।

23. मोरों का जिक्र प्राचीन ग्रन्थों जैसे बाइबिल, गीता आदि में भी किया गया है।

24. हिन्दू धर्म में मयूर और मोर पंखों को धार्मिक दृष्टि से देखा जाता है। हिन्दुओं के इष्टदेव श्री कृष्ण के मुकुट में मयूर पंख लगा होता है।

25. मोर पंखों को प्राचीन काल में भोजपत्र आदि में स्याही डुबाकर लिखने के लिए उपयोग किया जाता था।

26. इनके पंखों पर क्रिस्टल की परत लगी होती है जिसकी वजह से ये अत्यधिक चमकदार दिखाई देते हैं।

27. मोर की आवाज कैसी होती है? वैसे तो मयूर की आवाज बहुत ही तेज और कठोर होती है लेकिन ये हमेशा एक जैसे आवाज नही निकलते हैं ये अलग-अलग कई तरह के आवाज निकाल सकते हैं।

28. मोर के सिर में कलगी बनी होती है जिसे मुकुट भी कहा जाता है और शायद यही कारन है की मयूर को पक्षियों का राजा भी कहा जाता है।

29. अंग्रेजी में मोर को Peacock, मोरनी को Peahen, और इनके बच्चों को Peachicks कहा जाता है और इन सबको सामूहिक रूप से Peafowl कहा जाता है।

30. मोर हवा में ज्यादा देर तक नही रह सकते, ये शिकारियों से बचने के लिए उछलकर पेड़ों पर चढ़ जाते हैं।

31. मोरनी कभी घोसला नही बनाती यह जमीन पर ही किसी सुरक्षित स्थान देखकर अंडे देती है।

32. मोर मुख्य रूप से एक भारतीय पक्षी है लेकिन यह भारत के आलावा नेपाल, बांग्लादेश, श्रीलंका, भूटान, म्यांमार और पाकिस्तान जैसे देशों में भी पाया जाता है।

33. बसंत ऋतू में नर मोर मादा मोर को आकर्षित करने के लिए अपने पंख फैलाता है और नृत्य करता है।

34.  मोर की लगातार घटती हुयी आबादी को बचाने के लिए भारतीय सरकार ने सन 1982 में मोर के शिकार पर पूरी तरह से प्रतिबन्ध लगाया था।

35. मोर के पंख हर साल झड जाते हैं और उनकी जगह नये पंख उग जाते हैं।

आगे पढ़िए:

हमें उम्मीद है आपको Information About Peacock In Hindi पसंद आई होगी। आपको मोर के बारे में जानकारी पढ़कर कैसा लगा हमें जरुर बताएं। आप इसे मोर पर निबंध (essay on peacock in Hindi) लिखने के लिए भी उपयोग कर सकते हैं।

मोर के बारे में समान्य ज्ञान प्रश्न उत्तर – FAQ

मोर क्या खाता है?

मोर फल, बीज, फूलों की पंखुड़ियों, चींटियाँ, कीड़े-मकोड़े, टिड्डि आदि खाते हैं।

मोर शाकाहारी है या मांसाहारी?

मोर एक सर्वाहारी पक्षी है।

मोर की आवाज कैसी होती है?

मोर की आवाज बहुत ही तेज और कठोर होती है और ये अलग-अलग कई तरह की आवाजें निकाल सकते हैं।

मोर का जीवनकाल कितना होता है?

मोर का जीवनकाल 10 से 25 साल तक हो सकता है।

भारत में मोर कहाँ पाया जाता है?

मोर भारत देश की विभिन्न जगहों पर पाए जाते हैं जैसे – उत्तर प्रदेश , हरियाणा , राजस्थान आदि। 

ऐसे ही काम की रोचक जानकारी और Latest Update के लिए फैक्ट दुनिया की Instagram Page को फॉलो करें

Leave a Reply

error: