कबूतर के बारे में 25 हैरान करने वाले रोचक तथ्य – Facts About Pigeon in Hindi

कबूतर पक्षी की जानकारी (Information about Pigeon in Hindi) पाना चाहते हैं? या कबूतर पर निबंध (essay on pigeon in Hindi) लिखना चाहते हैं? ये रोचक और मजेदार तथ्यों की 25 lines आपकी मदद जरुर करेंगे।

कबूतर के बारे में 25 रोचक जानकारियां – About Pigeon in Hindi

1. कबूतर पूरी दुनिया में पाए जाते हैं। एक अनुमान के मुताबिक पूरे विश्व में इनकी संख्या लगभग 40 करोड़ है।

2. कबूतर और इंसान का रिश्ता बहुत ही पुराना है, मेसोपोटामिया काल के कुछ अवशेषों में इस बात की पुष्टि होती है की आज से लगभग 5000 साल पहले भी कबूतर मनुष्यों के करीब हुआ करते थे। कई विद्वानों का यह भी मानना है की कबूतर और इन्सान 10,000 साल से साथ रहते आ रहे हैं।

3. कबूतर 6000 फीट की ऊंचाई तक उड़ सकते हैं।

5. इनकी उड़ने की रफ़्तार 160 किलोमीटर प्रति घंटे तक हो सकती है।

6. कबूतरों में सुनने की उत्कृष्ट क्षमता होती है। वे मनुष्यों की तुलना में कम फ्रीक्वेंसी वाली ध्वनियों को भी सुन सकते हैं और इस प्रकार दूर से ही तूफानों और ज्वालामुखियों का भी अंदाजा लगा सकते हैं।

Kabootar ki photo

7. इनकी देखने की क्षमता असाधारण है, ये 26 मील की दूरी पर वस्तुओं की पहचान करने में सक्षम हैं।

8. वैसे तो सामान्यतः इनकी उम्र 20 तक होती है लेकिन कई बारे इससे अधिक उम्र तक भी जीवित रहते हैं। यह निर्भर करता है उनके खान-पान और पर्यावरण पर। अब तक का सबसे अधिक उम्र वाला कबूतर 25 साल का है।

9. कबूतर ही एक इकलौती प्रजाति है जिसने “मिरर टेस्ट” (यानि आईने में खुद को पहचानने की परीक्षा) पास कर चुका है।

10. ये अपना रास्ता कभी नही भूलते, ये पक्षी 2000 किलोमीटर दूर जा कर उसी रास्ते वापस भी आ सकते हैं। कहा जाता है की ये सूरज की रौशनी और मैग्नेटिक फील्ड के जरिये सही दिशा का पता लगाते हैं। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन में यह भी पाया गया है कि वे इंसानों द्वारा बनाये गये लैंडमार्क और मानव निर्मित सड़कों का भी उपयोग करते हैं, यहां तक ​​कि मोड़ और चौराहों पर अपनी दिशा भी बदलते हैं।

यह भी पढ़ें:

11. क्या आपने कभी कबूतर के चूजों को देखा है? आपने शायद ही देखा होगा, ये बहुत ही खूबसूरत होते हैं लेकिन बहुत ही कम दिखाई देते हैं। दरअसल मादा अपने बच्चे को तब तक बाहर निकलने नही देतीं जब तक की उसका पर्याप्त विकास न हो जाए।

12. ये एक बार में 1 से 3 अंडे दे सकते हैं, लेकिन देखा गया है की ये एक बार में ज्यादातर 2 अंडे देते हैं और उसमे से निकलने वाले दोनों चूजों को एक साथ पालते हैं।

कबूतर पक्षी की जानकारी – Information About Pigeon in Hindi

13. अंडे से निकलने में चूजों को 25 से 32 दिन लगते हैं।

14. बच्चे के पालन-पोषण में नर और मादा दोनों की जिम्मेदारी बराबर होती है। अंडे सेना, बच्चे को दूध पिलाना और उनकी देखभाल करना माता-पिता दोनों का काम होता है।

15. कबूतर एक ऐसी प्रजाति है जिसमे नर और मादा दोनों अपने बच्चे को दूध पिला सकते हैं। इनके दूध को क्रॉप मिल्क कहा जाता है।

16. कबूतरों को रोजाना लगभग 1 औंस (30 मिली) पानी की आवश्यकता होती है। वे ज्यादातर मुक्त पानी पर भरोसा करते हैं लेकिन वे पानी प्राप्त करने के लिए बर्फ का उपयोग भी कर सकते हैं।

Pigeon facts in Hindi

17. कबूतर पक्षी हम इंसानों को पहचान सकते हैं और इन्हें लम्बे समय तक इंसानी चेहरे याद रहते हैं।

18. यहाँ तक की ये तस्वीरों को भी पहचान सकते हैं, तस्वीर में अलग-अलग व्यक्तियों को भी पहचाने में ये सक्षम होते हैं।

19. एक अध्ययन में पाया गया कि कबूतरों को वर्णमाला के प्रत्येक अक्षर को पहचानना सिखाया जा सकता है और वे कठिन से कठिन अक्षरों को भी पहचान सकते हैं।

20. एक रिसर्च में यह भी पाया गया की इन्हें गणित भी सिखाया जा सकता है। ये अंको को पहचान सकते हैं, वस्तुओं के बीच संख्यात्मक अंतर बता सकते हैं, चीजों को क्रम में जमा सकते हैं। इनकी गणितीय क्षमता किसी बंदर से कम नही होती।

21. कबूतर अत्यधिक मिलनसार पक्षी हैं। उन्हें अक्सर 20-30 पक्षियों के झुंड में देखा जा सकता है।

22. प्रथम और द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान कबूतरों को सन्देश वाहक के रूप में इस्तेमाल किया गया था। उन्होंने दुश्मन के हमले की जानकारी पहुँचा कर कई लोगों की जान बचाई थी।

23. किसी जमाने में कबूतरों का उपयोग एरियल फोटोग्राफी में भी किया गया है। सन 1907 में, जूलियस नूब्रोनर नामक एक जर्मन फार्मासिस्ट ने एक विशेष प्रकार का कैमरा बनाया जिसे पक्षी के गले बंधा जा सकता था। इन हल्के, टाइमर कैमरा का उपयोग कबूतरों द्वारा ऊंचाई से दुर्लभ तस्वीरें खीचने के लिए किया गया। इससे पहले, ऐसी तस्वीरों को केवल गुब्बारे या पतंग का उपयोग करके कैप्चर किया जा सकता था।

24. कबूतरों की आबादी में आमतौर पर पुरुषों और महिलाओं की समान संख्या होती है। जब आबादी अचानक कम हो जाती है, तो कबूतर जल्द ही बच्चे पैदा कर संख्या को बराबर कर लेते हैं।

25. वैसे तो कबूतर कहीं भी रह सकते हैं जहाँ इन्हें पर्याप्त भोजन और पानी मिल जाय, लेकिन यह देखा गया है की ये हम मनुष्यों पर ज्यादा निर्भर होते हैं। ये अपना घोसला इंसानी इलाकों में बनाना पसंद करते हैं।

कबूतर पक्षी  की जानकारी (Information about pigeon in Hindi) और इससे जुड़े रोचक तथ्य आपको कैसे लगे? नीचे कमेंट करके हमें जरूर बताएं। आप इन तथ्यों का उपयोग कबूतर पर निबंध (essay on pigeon in Hindi) लिखने के लिए भी कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: