वसंत ऋतु पर निबंध – 100, 150 शब्द | Spring Season Essay in Hindi

सभी ऋतुओं में वसंत ऋतु को ऋतुओं का राजा माना जाता है इसलिए इसे ऋतुराज बसंत भी कहते हैं। मार्च में इस ऋतु का आगमन होता है। आज हम वसंत ऋतु पर निबंध लिखने वाले हैं। इस Spring Season Essay in Hindi को class 4, 5, 6,8 से 10 तक के विद्यार्थी अपने होमवर्क या परीक्षा के लिए उपयोग कर सकते हैं।

basant-ritu-par-nibandh

बसंत ऋतु पर निबंध 100 शब्द 

सर्दी के मौसम के बाद वसंत ऋतु का आगमन होता है। यह कड़ाके की ठण्ड से राहत दिलाता है और इस मौसम में न तो अधिक ठण्ड होती है न ही अधिक गर्मी। इस ऋतु में पेड़-पैधों में नई पत्तियां आती हैं, चारो ओर पक्षियों की मनमोहक आवाजें सुनाई देतीं हैं। वसंत ऋतु में प्रकृति की खूबसूरती देखते ही बनती है इसलिए इसे ऋतुओं का राजा कहा जाता है।

बंसत ऋतु के आगमन पर बंसत पंचमी का त्यौहार मनाया जाता है। बंसत पंचमी के दिन ज्ञान की देवी माता सरस्वती का जन्मदिवस भी होता है। महाशिवरात्रि, होली, बैसाखी जैसे त्यौहार भी इस ऋतु में आते हैं और बड़े धूमधाम से मनाये जाते हैं। वसंत ऋतु समस्त प्राणी जगत में एक नयी उर्जा का संचार करता है और यह ऋतु हर किसी को पसंद है।

यह भी पढ़ें: वसंत ऋतु पर 10 वाक्य – 10 lines on spring season in Hindi

बसंत ऋतु पर निबंध 150 शब्द

 भारत में फरवरी और मार्च में वसंत ऋतु आता है। वसंत ऋतु को ऋतुओं का राजा या ऋतुराज बसंत भी कहा जाता है। इस ऋतु के आने से प्रकृति में कई सारे बदलाव होते हैं। वृक्षों पर नए पत्ते आ जाते हैं, आम के पेड़ पर बौर लग जाते हैं, सरसों के खेतों में पीले-पीले खूबसूरत फूल खिल उठते हैं। कोयल की कू-कू बड़ी ही प्यारी लगती है। इन दिनों आसमान साफ़ होता है और दिन में पक्षी उड़ते हुए दिखाई देते हैं और रात में चाँद की चांदनी मनमोहक दिखाई देती है।

वसंत ऋतु के आगमन से किसानो की फसलें भी पकने लगतीं हैं। पेड़-पौधे, सभी जीव-जंतु और मनुष्य इस मौसम में जोश और उल्लास से भरे होते हैं। बसंत ऋतु बहुत ही सुहावना होता है। यह स्वास्थ्य के लिए भी एक अच्छा मौसम होता है क्योंकि इन दिनों वातावरण का तापमान सामान्य होता है।

इस समय स्कूल में परीक्षाएं भी होती हैं और परीक्षा खत्म होते ही गर्मी की छुट्टियाँ शुरू हो जाती हैं। वसंत ऋतु में होली का त्यौहार पूरे देश में बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। बसंत पंचमी के अवसर पर माँ सरस्वती की पूजा की जाती है और बेहतर भविष्य और खुशहाली की कामनाएं की जातीं हैं।

वसंत ऋतु हिंदी निबंध- Spring Season Essay in Hindi

भूमिका :-

दोस्तो हर मौसम की अपनी एक सुंदरता होती है, पर बसंत ऋतु खुद में बहुत खूबसूरत होता है। बसंत ऋतु को ऋतुओं मे राजा का दर्जा प्राप्त है। मार्च, अप्रैल और मई का महिना खासतौर से बसंत लेकर आता है और इस समय प्रकृति में मोतियों की भाँति चमक होती है। इस मौसम मे न तो अधिक ठण्ड होती है न अधिक गर्मी ही रहती है, ये नमी वाला मौसम होता है जो हमारे शरीर मे नई ऊर्जा का प्रवाहन करता है।

तीन महीने कड़ाके की ठण्ड पड़ने के बाद भारत मे बसंत ऋतु का आगमन होता है। बसंत ऋतु में मद्धम मद्धम ठण्डी हवाएं बहती है जो हम सबको शीतलता का एहसास कराती है। इस तरह से हम यह कह सकते है कि बसंत ऋतु कई मायनों में एक बहुत ही सुन्दर ऋतु है जो अपने साथ एक उत्सव का माहौल लेकर आता है क्योंकि इस दौरान कई ऐसे विशेष त्यौहारों का आगमन होता है जिसे न सिर्फ भारत बल्कि विदेशों में भी बड़े धूमधाम से मनाया जाता है।

चारो ओर हरियाली छाई रहती है :- 

हरियाली किसे पसंद नही आती है और बसंत ऋतु तो एक ऐसा ऋतु है जो खासतौर पर इसी के लिए जाना जाता है। इस मौसम में रंग बिरंगे फूल प्रकृति की रौनक बढ़ाते है, और हरी भरी पत्तियाँ शाखों में इक नई जान भर देती है जिस से इसकी सुंदरता अत्यंत बढ़ जाती है। इस मौसम मे चिड़िया चहचहाती है, कोयल गुनगुनाती हैं और आसमान बहुत साफ नजर आते है।

ये मौसम किसानों के लिए बहुत उम्मीदों भरा होता है क्योंकि इस समय उनकी फसले पकने लगती है और उसकी कटाई का वक़्त हो जाता है। खेतों मे लगे सरसो के फूल देखने मे बहुत सुंदर प्रतीत होते है और उपवनों की छटा देखने लायक होती है। पशु पक्षियों के लिए बसंत ढेरों उपहार लेकर आता लेकर आता है, उनके पास वृक्षों पर लगे पत्तियाँ एवं स्वादिष्ट फलों को खाने के कई विकल्प होते है, इस प्रकार वो इस मौसम का भरपूर आनन्द उठाते है। 

सुहावने हो जाते है दिन :-

हम सभी में ज्यादातर लोगों को भी ये बसंत ऋतु बहुत प्रिय होता है क्योंकि शीत ऋतु की कई ठण्डी शामे बिताने के बाद वो इन दिनों वो अपने मन पसन्द हल्के कपड़े पहन सकते है एवं राहत भरी हवाओं का लुत्फ़ उठा सकते है। बसंत का हर दिन बहुत सुहावना रहता है, चारों ओर सुंदर नज़ारे दिखाई देते है, बागों मे सुंदर फूल खिल कर अपना पूर्ण आकार ले चुके होते है और ये दिन नई उमंगों से भरे होते हैं।

बसंत कवियों को बहुत सुंदर अनुभूति करता है जिससे प्रभावित होकर वो एक से बढ़कर एक कविताओं की रचना करते हैं, उनका मस्तिष्क इस वक़्त और भी ज्यादा सृजनात्मक हो जाता है क्योंकि बसंत के मौसम मे तन एवं मन दोनों को बहुत सुंदर अनुभूति होती है जिससे दिमाग मे बेहतर विचारों की उत्पति होती है। 

माता सरस्वती का जन्मदिन :- 

बसंत ऋतु की बात हो और माता सरस्वती का जिक्र ना हो बसंत पंचमी तो हम सब मनाते है क्योंकि इस दिन माता सरस्वती के जन्म के रूप में माना जाता है। जिसे हर भारतीय एक पर्व के रूप मे मनाता हैं एवं विधा की देवी माता सरस्वती से स्वस्थ एवं अच्छे मस्तिष्क एवं ज्ञान की कामना करते हैं।

इस दिन जगह जगह सरस्वती माँ की मूर्ति भी स्थापित की जाती है जिसे बहुत पूरी आस्था के साथ सजाया जाता है एवं इसके 2 से 3 दिनों बाद बहुत हर्ष उल्लास से लोगों की एक टोली नाचते गाते मूर्ति विसर्जन के लिए जाती है। ताकि माँ अगले साल फिर आये और हम सब को आशीर्वाद दे। बसंत पंचमी वाले दिन स्कूल एवं कॉलेज जाने वाले विधार्थी पूरे भक्ति भाव से माता सरस्वती की विशेष पूजा करते हैं ताकि मा सदैव उनपर अपनी कृपा दृष्टि बनाये रखे। ये दिन हिंदू धर्म मे काफी महत्वपूर्ण होता है, पीला रंग सरस्वती माँ का पसन्दीदा रंग है इसलिए बहुत से लोग इस दिन पीले रंग के वस्त्रों को धारण करते हैं।

सबका लोकप्रिय मौसम है बसंत :-

दोस्तो चूंकि बसंत ऋतु शीत ऋतु के बाद आती है, ठण्ड मे कुछ दिन ऐसे भी होते है जो बदन को कपकपा देते हैं और उन दिनों का सामना करने के बाद लोग खुशी खुशी बसंत का स्वागत सत्कार करने लगते हैं एवं लोग अपने ठण्ड के उनी कपड़ों को रखकर हल्के वस्त्र निकाल लेते हैं जो उनके शरीर को राहत दे सके।

इस मौसम मे लोगों मन काफी स्थिर रहता ही इसलिए बहुत से लोग अपने नये काम की भी शुरुवात करते हैं। बच्चों को बसंत और भी ज्यादा प्रिय होता है क्योंकि ये उनके लिए कई उपहार लेकर आता है, जैसे उनकी परिक्षाये खत्म होने के कगार पर होती है और कुछ दिनों के पश्चात उनकी छुट्टियां शुरू हो जाती है और वो फिर खेल कूद मे खुद को व्यस्त कर लेते हैं और मौसम का भी भरपूर आनन्द उठाते हैं। 

बसंत ऋतु के त्यौहार :- 

भारत मे मनाये जाने वाले पर्व पूरे विश्व मे बहुत प्रसिद्ध हैं जो अब भारत के अलावा अन्य देशों में भी बहुत धूमधाम से मनाया जाता है। यहाँ की संस्कृति, परम्परा एवं हर स्थान अपने आप मे ही एक कहानी संजोये है जो इतिहास बयाँ करती हैं। बसंत ऋतु मे त्योहारों का आगमन तो बसंत पंचमी से ही हो जाता है जिसके बाद महाशिवरात्रि, बैसाखी और होली जैसे प्रमुख त्यौहार आते हैं जो हर भारतवासी एक उत्सव की तरह मनाता है और पूरा देश खुशियों से झूम उठता है। भारत मे मनाये जाने वाले प्रत्येक त्योहारों की अपनी एक कहानी है जिसे मनाकर हम उस कहानी को जीवंत करने का काम करते हैं। हर त्यौहार मे एक अच्छा संदेश छुपा होता है जिससे हर व्यक्ति को प्रेरणा लेकर अपने जीवन मे उतारना चाहिए। 

उपसंहार :-

बसंत ऋतु एक सुंदर मौसम की भाँति हम सबके जीवन मे प्रवेश करता है और बहुत कुछ अच्छी सीख देकर जाता है। इस मौसम मे हर व्यक्ति को योगा आदि अवश्य करना चाहिए जिससे उनका शरीर स्वस्थ रहे और मन शांत रहे, शरीर कार्यरत रहेगा तो शरीर कई बिमारियाँ से निरोग रहेगा। बसंत ऋतु प्रकृति का एक बहुत सुंदर उपहार है जो हर व्यक्ति को प्राप्त होता है।

आगे पढ़ें:

आपको बसंत ऋतु के बारे में निबंध कैसी लगी? हमें जरुर बताएं।

ऐसे ही काम की रोचक जानकारी और Latest Update के लिए फैक्ट दुनिया की Instagram Page को फॉलो करें

Leave a Reply

error: