सूखे मेवे यानी ड्राई फ्रूट्स का उपयोग पूरी दुनिया के साथ-साथ हमारे देश में भी बहुत अधिक मात्रा में होता है। ड्राई फ्रूट किसी एक फल का नही होता बल्कि ऐसे कई सारे फल हैं जिनको हम सूखे मेवे के रूप में खाते हैं। काजू, बादाम, पिस्ता आदि उनमे प्रमुख हैं। आज हम ऐसे 20 सूखे मेवे के नाम हिंदी और अंग्रेजी में (Dry Fruits Name in Hindi English) और उनके लाभ के बारे में बताने वाले हैं।

सूखे मेवे का उपयोग हम मिठाइयों, पकवानों, और तरह-तरह के व्यंजनों में करते हैं। ये खाने में स्वादिष्ट तो होते ही हैं साथ ही ये हमारे सेहत के लिए भी बेहद लाभकारी होते हैं। निचे हमने भारत में ज्यादातर उपयोग होने वाले सूखे मेवे के नाम की लिस्ट दी है और उनके फायदे के बारे में भी आपको बताया है।

सूखे मेवे के नाम- Dry Fruits Name in Hindi English

सूखे मेवे के नाम – Dry Fruits Name in Hindi English

  1. काजू – Cashew
  2. बादाम – Almond
  3. पिस्ता – Pistachio
  4. मूंगफली – Peanuts
  5. किशमिश – Raisins
  6. सूखी खुबानी – Dried Apricot
  7. खजूर – Dates
  8. सुपारी – Betel Nuts
  9. चिरोंजी – Cudpahnut
  10. छुहारा – Dry Dates
  11. खोपरा – Dry Coconuts
  12. अंजीर – Dry Figs
  13. चिलगोजे – Pine Nuts
  14. खरबूज के बीज – Cantaloupe Seeds
  15. कद्दू के बीज – Pumpkin Seeds
  16. मगज / खरबूज के बीज – Watermelon Seeds
  17. शाहबलूत – Chestnut
  18. अलसी का बीज – Flax Seeds
  19. मखाना – Lotus Seeds
  20. अखरोट – Walnut

भारत में सबसे ज्यादा उपयोग होने वाले 10 सूखे मेवे के नाम और उनके लाभ – Top 10 Dry Fruits Name in Hindi

ऊपर हमने 20 ड्राई फ्रूट्स के नाम बताये हैं उनमे से कुछ ड्राई फ्रूट्स ऐसे हैं जो की भारत में अत्यधिक मात्रा में उपयोग किये जाते हैं और लोग इन्हें बड़े चाव से खाते हैं। आइये भारत में सबसे अधिक उपयोग होने वाले 10 सूखे मेवे के नाम और उनके लाभ के बारे में जानते हैं।

1. काजू – Cashew

kaju-sookha-meva

भारत में यदि ड्राई फ्रूट्स या सूखे मेवे का नाम लिया जाए तो उसमे काजू सबसे पहले आता है। शायद काजू भारतियों का सबसे पसंदीदा मेवा है और यहाँ लोग इसे बड़े ही चाव से खाना पसंद करते हैं। किडनी की आकृति वाला यह मेवा एक बीज है जो की काजू पेड़ के फलों से निकलता है।

काजू खाने में स्वादिष्ट होता है और इसे अलग-अलग प्रकार की मिठाई, पकवान आदि में भी मिलाया जाता है। स्वादिष्ट होने के साथ ही यह हमारे सेहत के लिए भी बेहद फायदेमंद है। काजू खाने से याददाश्त बढ़ता है, हड्डियों को मजबूत बनाता है, यह प्रोटीन का बढ़िया स्त्रोत है और इससे शरीर को अच्छी उर्जा मिलती है इन सबके अलावा इसके और भी कई सारे फायदे हैं।

२. बादाम – Almond

badaam

भारत में काजू के बाद बादाम सबसे प्रसिद्ध सूखा मेवा है। लोग अक्सर दिमाग तेज करने और याददाश्त बढाने के लिए बादाम खाने की सलाह देते हैं। आयुर्वेद में बादाम को दिमाग और नसों के लिये लाभकारी बताया गया है। इसमें विटामिन ई, कैल्शियम, पोटैशियम, आयरन, मैग्नीशियम, फास्फोरस आदि भी पाए जाते हैं।

यह बादाम के पेड़ के फल का बीज होता है। बादाम के ऊपर एक कठोर छाल होता है जिसे निकाल दिया जाता है और अंदर के बीज को बेचा जाता है जो की दिखने में गेरुआ रंग का होता है। बादाम दो प्रकार के पाए जाते हैं एक मीठा बादाम और दूसरा कडवा बादाम। जो बादाम आप खाते हैं वह मीठा बादाम है और यदि आप बादाम तेल का उपयोग करते हैं तो वह तेल आमतौर पर कडवे बादाम से निकाला जाता है।

३. मूंगफली – Peanuts

mungfali

मूंगफली पौष्टिक तत्वों से भरपूर होता है। भारत में मूंगफली बड़ी आसानी से और कम कीमत में मिल जाता है इसलिए इसे “गरीबों का काजू” भी कहा जाता है। आपको जानकार हैरानी होगी की मूंगफली में मांस, दूध, अंडे, मछली आदि से भी अधिक मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। लोग अक्सर मूंगफली को भूनकर खाते हैं क्योंकि इससे इसका स्वाद और बढ़ जाता है।

भुनी हुई मूंगफली स्वादिष्ट होने के साथ ही खनिज और विटामिन से भरपूर होती है और इससे किसी भी मांस की तुलना में कहीं अधिक पोषक तत्व मिलता है। मूँगफली पाचन शक्ति बढ़ाने में भी कारगर है। मूँगफली में प्रोटीन, विटामिन इ, बी, तथा के. होते हैं, ये शरीर को अच्छा पोषण प्रदान करते हैं।

४. किशमिश – Raisins

kishmish

सूखे हुए अंगूर को ही किशमिश कहा जाता है। वहीँ बड़े अंगूरों से बने हुए किशमिश को मुनक्का भी कहा जाता है। यह सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। किशमिश में कई पोषक तत्व होते हैं, जिसमें विटामिन, मिनरल्स, आयरन और फाइबर शामिल हैं। इसमें कैल्शियम भी पाया जाता है और इसी वजह से इसे खाने से हड्डियाँ मजबूत होती हैं और इसके साथ ही यह दांतों को मजबूत और स्वस्थ बनाता है।

किशमिश को खीर, मिठाई और पकवान आदि में भी मिलाया जाता है। इस काम के लिए ज्यादातर गोल्डन कलर के किशमिश का उपयोग किया जाता है।

५. पिस्ता – Pistachio

pista dry fruit

पिस्ता एक प्रकार का फल है और इस फल के ऊपर एक बाहरी सेल बना होता है जिसे हटा कर खाया जाता है। यह नट ना केवल खाने में स्वादिष्ट होते हैं बल्कि हमारे शरीर के लिए सुपर हेल्दी भी होते हैं। पिस्ता अक्सर सलाद, आइस क्रीम और अन्य बेक्ड फूड्स में अत्यधिक उपयोग किया जाता है। पिस्ता में प्रोटीन, विटामिन, मिनरल्स जैसे कॉपर, जिंक और फास्फोरस आदि पाए जाते हैं जो की हमारे सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं।

पिस्ता हमारे शरीर को ऊर्जा तो देते ही हैं साथ ही यह वजन घटाने के लिए सबसे फायदेमंद फूड्स में से एक है। पिस्ता में विटामिन ए, विटामिन ई, विटामिन सी, विटामिन बी, विटामिन के पाया जाता है। इसके अलावा एंटीऑक्सिडेंट भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो की हमारे सेल्स को डैमेज होने से बचाते हैं।  

6. खजूर – Dates

khajoor-dry-fruit

खजूर एक प्रकार का मीठा फल है जिसे ड्राई फ्रूट के रूप में इस्तेमाल किया जाता है और खजूर में आयरन, मिनरल्स, कैल्शियम, एमिनो एसिड, फास्फोरस और विटामिन जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसका रोजाना सेवन करने से हमें कई सारे फायदे होते हैं। खजूर खाने से हड्डियां मजबूत होती हैं, रात में अच्छी नींद आती है, कब्ज एसिडिटी से राहत मिलता है, आंखों की रोशनी को तेज करता है, यह शरीर में आयरन की मात्रा को पूरा करता है।

रोज सुबह खाली पेट खजूर खाने से शरीर को तुरंत एनर्जी मिलती है और इससे शरीर की कमजोरी दूर होती है। वजन बढ़ाने के लिए खजूर को दूध के साथ खाना चाहिए। खजूर में कलेस्ट्रॉल नहीं होता, फैट की मात्रा भी कम होती है, नियमित सेवन से कलेस्ट्रॉल नियंत्रित रहता है।

७. सुपारी – Betel Nuts

supari

भारत में सुपारी का भी बहुत ही अधिक उपयोग किया जाता है। हालांकि यह अन्य ड्राई फ्रूट्स की तरह नहीं है इसे पकवानों में, मिठाइयों आदि में नहीं मिलाया जाता है। अधिकतर लोग इसे पान के साथ खाना पसंद करते हैं। भारतीय संस्कृति और परंपरा के अनुसार पूजा-पाठ और किसी शुभ कार्य के लिए पान का पत्ता और उसके साथ सुपारी का उपयोग किया जाता है।

सुपारी का पेड़ ताड़ और नारियल के पेड़ जैसा होता है। जिस कठोर सुपारी का उपयोग हम करते हैं वह दरअसल सुपारी के फल का बीज होता है। सुपारी का सेवन करने से पेट की समस्या जैसे कब्ज, अपच आदि में लाभ मिलता है। सुपारी हमारे दातों के कैविटी को खत्म करता है और दांतों के पीलेपन को भी दूर करता है।

8. छुहारा – Dry Dates

chhuara-dry-dates

छुहारा खजूर का ही दूसरा रूप है। जिस तरह से अंगूर को सुखाकर किशमिश बनाया जाता है वैसे ही खजूर को सुखाकर छुहारा बनाया जाता है। यह खजूर से ज्यादा सख्त और कठोर होता है। छुआरा भी कई सारे पोषक तत्वों का भंडार है। इसमें कार्बोहाइड्रेट, शुगर, फाइबर और प्रोटीन के अलावा कॉपर, पोटैशियम, मैग्नीशियम, मैंगनीज, आयरन, फास्फोरस, कैल्शियम जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं।

यह हमारी त्वचा को स्वस्थ बनाता है, फ्री रेडिकल्स को कम करता है और चेहरे की झुर्रियों को दूर करता है। इसे खाने से शरीर में तुरंत उर्जा का संचार होता है। इससे मांसपेशियों को मजबूती मिलती है और हड्डियाँ मजबूत होती हैं। यह बालों के लिए भी लाभकारी है।

9. सूखी खुबानी – Dried Apricot

khubani-dried

खुबानी एक बीज वाला फल है जो की दिखने में पीला और लाल होता है। इसे अंग्रेजी में एप्रीकॉट के नाम से जाना जाता है। इसका स्वाद खट्टा-मीठा होता है। सूखी ख़ुबानी को भारत के पहाड़ी इलाक़ों में बादाम, अख़रोट की तरह ही एक ख़ुश्क मेवा समझा जाता है। सूखी खुबानी कई प्रकार के महत्वपूर्ण पोषक तत्वों से भरपूर होती है।

इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, आयरन, फाइबर, विटामिन-ए, विटामिन-सी शामिल हैं जो सेहत के लिए लाभकारी होते हैं। यह आँखों को स्वस्थ बनाता है, हड्डियाँ मजबूत करता है, कब्ज दूर करने में सहायक है, त्वचा सम्बंधित समस्याओं में यह लाभकारी है। इसे खाने से वजन भी नियंत्रित रहता है।

10. अंजीर – Dry Figs

anjeer-sookha-mewa

अंजीर बहुत ही पुराना फल है जो की कई सौ सालों से धरती पर पाया जाता है। जब यह फल सूख जाता है तो इसे सूखे मेवे के रूप में उपयोग किया जाता है। इसे आप फल और ड्राई फ्रूट दोनों के रूप में खा सकते हैं। अंजीर एक बेहद मीठा फल है क्योंकि इसमें नैचरल शुगर की मात्रा बहुत होती है और सूखे हुए अंजीर में शुगर की मात्रा और अधिक होती है। यह ऐंटिऑक्सिडेंट का भी बेहतरीन सोर्स है जिस वजह से यह हमें सेहतमंद रखने में मदद करता है।

अंजीर में विटामिन-ए, बी, सी, के और कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, पोटैशियम, जिंक, कॉपर और मैंगनीज जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। अस्थमा, हाई ब्लड प्रेशर, दिल को स्वस्थ बनाने, हड्डियाँ मजबूत करने व पेट से जुड़ी तमाम समस्याओं को ठीक करने के लिए अंजीर का सेवन करना चाहिए।

आगे पढ़ें:

आपको सूखे मेवे के नाम हिंदी और अंग्रजी में की यह लिस्ट और जानकारी कैसी लगी हमें जरुर बताएं।

Leave a Reply