फल खाना हर किसी को पसंद है, दुनिया में कई प्रकार के फल पाए जाते हैं जो खाने में स्वादिष्ट तो होते ही हैं साथ ही हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक भी होते हैं। आज हम ऐसे ही फल देने वाले पेड़ों की बात करने वाले हैं जिन्हें फलदार वृक्ष कहा जाता है। आपको इस पोस्ट में फलदार वृक्षों और फल देने वाले पौधों के नाम बताने वाले हैं।

फलदार वृक्ष किसे कहते हैं?

ऐसे पेड़ जिन पर फल लगते हैं फलदार वृक्ष या फल देने वाले पेड़ कहलाते हैं। इन फलों को हम इंसान और पशु-पक्षी खाते हैं। फलदार वृक्ष छोटे-बड़े हर आकार में पाए जाते हैं। ये वृक्ष हमें खाने को फल तो देते ही हैं साथ ही हमें छाँव देते हैं और ऑक्सीजन देकर वातावरण को तरोताजा भी रखते हैं।

फलदार पेड़ों में फल लगने से पहले फूल लगते हैं और बाद में उसी फूल की जगह फल आने लगते हैं। दरअसल ये फल उसी फूल के पके हुए अंडाशय होते हैं।

फल देने वाले पेड़ के नाम

आइये कुछ फलदार वृक्षों और पौधों के नाम जानते हैं:

  1. आम का पेड़
  2. संतरे का पेड़
  3. सेब का पेड़
  4. अमरुद का पेड़
  5. अनार का पेड़
  6. बेर का पेड़
  7. पपीते का पेड़
  8. जामुन
  9. सीताफल
  10. रामफल (बड़हल)
  11. बेल वृक्ष
  12. केले का वृक्ष
  13. नारियल वृक्ष
  14. नीबू
  15. आंवला वृक्ष
  16. इमली का पेड़
  17. लीची
  18. अंजीर
  19. कटहल
  20. चीकू
  21. गूलर

कुछ प्रसिद्ध फलदार वृक्षों के नाम और जानकारी

आइये ऐसे कुछ फल वाले पौधों और पेड़ों के बारे में जानते हैं जो की बहुत ही प्रसिद्ध हैं और हमारे आसपास आसानी से देखे जा सकते हैं:

आम का पेड़

आम भारत में बहुत ही प्रसिद्ध है और शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा जिसने कभी आम न खाया हो। आम को फलों का राजा कहा जाता है और भारत में गर्मी के दिनों में इसके फल सबसे ज्यादा पाए जाते हैं। आम के पेड़ अलग-अलग आकार में पाए जाते हैं कुछ प्रजाति के वृक्ष विशालकाय भी होते हैं तो कुछ बहुत ही छोटे पौधे की तरह होते हैं। आम में फल लगने से पहले फूल लगते हैं जिन्हें मंजीरा कहा जाता है। बाद में इन्हीं फूल से आम के फल बनते हैं।

पढ़िए:

अमरुद का पेड़

अमरुद भी भारत में बड़ी आसानी से मिल जाता है खासतौर पर सर्दी के दिनों में इसकी पैदावार बहुत ही अधिक होती है। अमरुद खाने में स्वादिष्ट तो होता ही है साथ ही इसमें अन्य फलों की तुलना में विटामिन सी की भरपूर मात्रा पायी जाती है। अमरूद का पौधा लगाने के लिए गर्म तथा शुष्क जलवायु सबसे अधिक उपयुक्त है। अमरुद का पेड़ सर्दी और गर्मी दोनों को सहन कर लेता है और यह भारत के जलवायु के लिए बहुत ही उपयुक्त है।

पपीते का पेड़

पपीता एक प्रकार का फल है जो की हरे रंग का दिखाई देता है और पकने पर यह पीला हो जाता है। पपीता खाने में स्वादिष्ट तो होता ही है इसके अलावा स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी है। पपीता का पेड़ लगाने के एक वर्ष के अंदर ही यह फल देने लगता है। इसके पेड़ छोटे होते हैं इसलिए कम क्षेत्र में अधिक से अधिक पौधे लगाए जा सकते हैं। ये पेड़ ज्यादा मजबूत नही होते और इसमें लकड़ियाँ भी नही निकलतीं। ज्यादा पानी वाले इलाकों में इसे नही लगाया जाता क्योंकि पानी की वजह से ये गलने लगते हैं।

जामुन का पेड़

जामुन का पका हुआ फल दिखने में बैगनी रंग का होता है और स्वाद में थोडा कसैला और मीठा होता है। इसके फल में खनिजों की संख्या अधिक होती है इसमें आयरन, विटामिन बी, कैरोटिन, मैग्नीशियम और फाइबर होते हैं। जामुन एक सदाबहार वृक्ष है और इसका पेड़ भी आम के पेड़ की तरह काफी बड़ा होता है। जामुन ज्यादातर गर्मी के दिनों में पाए जाते हैं। जामुन का फल कई सारी बीमारियों जैसे: गठिया, मधुमेह, पथरी और त्वचा सम्बंधित रोगों को ठीक करता है।

इमली का पेड़

इमली का फल लाल और भूरे रंग का होता है और स्वाद में बेहद खट्टा होता है। इमली का पेड़ भी विशालकाय होता है और इसे फल देने में लगभग 8 साल लगते हैं। यह एक प्रकार का सदाबहार पेड़ है। इसकी लकड़ी मजबूत और भारी होती है। इमली के फल हर साल फरवरी और मार्च में पक जाते हैं। पके हुए फल के अंदर लाल रंग के कई सारे बीज होते हैं। इमली खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढती है और इससे शरीर की कई सारी समस्याओं में फायदा होता है।

हमें उम्मीद है यह फलदार वृक्षों के नाम की लिस्ट और फल देने वाले पौधों के बारे में यह जानकारी आपके काम आएगी।

आगे पढ़िए:

Leave a Reply