200+ पर्यायवाची शब्द हिंदी में | पर्यायवाची शब्दों की सूची | 100 Synonyms words in Hindi | 200 समानार्थी शब्द

आज हम 200 पर्यायवाची शब्दों की सूची लेकर आये हैं। इस लिस्ट में कई सारे Synonym words यानी समानार्थी शब्दों की लिस्ट दी गयी है। हिंदी विषय की प्रतियोगी परीक्षाओं में अक्सर ऐसे समानार्थी या पर्यायवाची शब्दों के बारे में प्रश्न पूछे जाते हैं। निचे दी गयी list of synonyms words in Hindi ऐसे प्रतियोगी परीक्षार्थियों के काम आएगी।

पर्यायवाची शब्द हिंदी में

शब्द पर्यायवाची शब्द
अतिथिमेहमान ,पाहुन ,आगंतुक, अभ्यागत।
अश्वघोड़ा,आशुविमानक, तुरंग, घोटक, हय, तुरंगम, वाजि, सैंधव, रविपुत्र।
अधर्मपाप ,अनाचार, अनीत, अन्याय, अपकर्म, जुल्म।
अचलअडिग ,अटल ,स्थिर ,दृढ, अविचल।
अनुपमअनोखा, अनूठा, अपूर्व, अद्भुत, अद्वितीय, अतुल।
अमृतमधु, सुधा, पीयूष ,अमी, सोम ,सुरभोग।
अंबामाता, जननी, मां, जन्मदात्री, प्रसूता।
अलंकारआभूषण, भूषण, विभूषण, गहना, जेवर।
अहंकारदंभ, गर्व, अभिमान, दर्प, मद, घमंड, मान।
अरण्यजंगल, वन, कानन, अटवी, कान्तार, विपिन।
अंकुशनियंत्रण, पाबंदी, रोक, अंकुसी, दबाव, गजांकुश, हाथी को नियंत्रित करने की कील, नियंत्रित करने या रोकने का तरीका।
अंतरिक्षखगोल, नभमंडल, गगनमंडल, आकाशमंडल।
अंतर्धानगायब, लुप्त, ओझल, अदृश्य।
अंबरआकाश, आसमान, गगन, फलक, नभ।
अंतर्गतशामिल, सम्मिलित, भीतर आया हुआ गुप्त।
आयुष्मानचिरंजीवी, दीर्घ, जीवी, शतायु ,दीर्घायु।
आदर्शप्रतिमान, मानक, प्रतिरूप ,नमूना।
आयुअवस्था, उम्र, वय, जीवनकाल, वयस्, जिन्दगी ।
आभूषणअलंकार, भूषण, गहना, आभरण, जेवर, टूम ।
आँखनेत्र, नयन, चक्षु, दृग, लोचन, अक्षि, नजर, अक्ष, चश्म।
आकाशनभ, अनन्तं, अभ्रं, पुष्कर, शून्य, तारापथ, अंतरिक्ष, आसमान, फलक, व्योम, दिव, खगोल, गगन, अम्बर।
आत्माप्राणी, प्राण, जान, जीवन, चैतन्य, ब्रह्म, क्षेत्रज्ञ, सर्वज्ञ, सर्वव्याप्त, विभु, जीव ।
आयुष्मानचिरंजीव, दीर्घजीवी, शतायु, दाघायु।
आदर्शप्रतिमान, मानक, प्रतिरूप, नमूना ।
आमअतिसौरभ, रसाल, फलराज, आम्र, सहकार, पिकबंधु, च्युतफल ।
इंद्रपुरंदर, शक्र, शचिपति, सुरपति, देवराज, मघवा, देवेश, शतक्रतु, सुत्रामा, वासव, सुरेश, वृहत्रा, अमरपति, पर्वतारि, वीडौजा, कौशिक, शतमन्यु।
इंद्रधनुषसूरधनु, इंद्रायुध, शक्रचाप, सप्तवर्ण।
इंद्राणीपुलोमजा, शची, इन्द्रा, इंद्रवधू, ऐन्द्री।
इत्यादिआदि, प्रभृति, वगरैह।
इठलानाचोंचले करना, नखरे करना, इतराना, ऐंठना, हाव
इनामपुरस्कार, पारितोषिक, पारितोषित करना, बख्शीश।
इजाजतस्वीकृति, मंजूरी, अनुमति।
इज्जतमान, प्रतिष्ठा, आदर, आबरू।
इर्दगिर्द
इशारासंकेत, इंगित, लक्ष्य, निर्देश।
इलजामआरोप, लांछन, दोषारोपण, अभियोग।
ईर्ष्यास्पर्धा,मत्सर, डाह‌, जलन, कुढ़न।
उत्पत्तिउद्भव, जन्म, जनन, आविर्भाव ।
उपदेशदीक्षा, नसीहत, सीख, शिक्षा, निर्देशन।
उचितठीक, मुनासिब, वाज़िब, समुचित, युक्तिसंगत, न्यायसंगत, तर्कसंगत, योग्य।
उपवनबाग़, बगीचा, उद्यान, वाटिका, पुष्पोद्यान, फुलवारी, पुष्पवाटिका, गुलिस्तान, चमन, गुलशन।
उपकारभेंट, नजराना, भलाई, नेकी, उद्धार, अच्छाई, परोपकार, कल्याण, अहसान, आभार, तोहफा।
उपहासपरिहास, मजाक, खिल्ली।
उदाहरणमिसाल, नजीर, दृष्टान्त, कथा
उषाकालअरुणोदय, प्रातः, प्रभात।
ऐश्वर्यवैभव संपन्नता धन
एकांतनिर्जन सुनसान शून्य।
ओजस्वीबलिष्ठ बलशाली बलवान ओजशाली शक्तिमान तेजस्वी।
औषधिदवा, दवाई, भेषज।
कर्णसूर्यपुत्र, राधेय, कौन्तेय, पार्थ, अंगराज, सूतपुत्र।
कनककंचन, सुवर्ण, हिरण्य, हेम, हाटक, सोना, स्वर्ण।
कपोतकबूतर, हारीत, पारावत, परेवा, रक्तलोचन।
कपड़ाअंबर, पट, पोशाक, लिबास, दुकूल, परिधान,चीर, वसन, वस्त्र।
कमलजलज, पंकज, अम्बुज, सरोज, शतदल, नीरज, इन्दीवर, सरसिज, अरविन्द, नलिन, उत्पल, सारंग, शतपत्र, राजीव, पद्म, अब्ज, पुण्डरीक,सरसीरुह, वारिज, कुशेशय।
कलीकलिका, मुकुल, कुडमल, डोंडी, गुंचा, कोरक।
कपूरघनसार, हिमवालुका।
करहाथ, हस्त, बाहु, पाणि, भुज।
कर्तव्यकर्म, कृत्य, विधेय।
कान्तिप्रकाश, आलोक, उजाला, दीप्ति, छवि, सुषमा,आभा, प्रभा, छटा, द्युति।
कामदेवमदन, काम, कंदर्प, मनोज, स्मर, मीनकेतु, मनसिज, मार, रतिपति, मन्मथ, अनंग, शंबरारि,कसुमेष, पुष्पधन्वा।
किरणअंशु, रश्मि, कला, कर, गो, प्रभा, दीधिति, मयूख, मरीचि।
किनारातट, कूल, तीर, कगार, पुलिन।
कुत्तासारमेय, सोनहा, शुनक, गंडक, कुकर, श्वान,कुक्कुर।
केलाकदली, भानुफल, गजवसा, कुंजरासरा, मोचा, रम्भा।
कौआकाक, वायस, काण, काग, बलिपुष्ट, करकट,पिशुन।
कंठगला, शिरोधरा, ग्रीवा, गर्दन।
कुबेरधनद, यक्षराज, धनाधिप, यक्षपति, किन्नरेश, राजराज, धनेश।
कृतज्ञऋणी, आभारी, अनुग्रहित, उपकृत ।
खेलक्रीड़ा, केलि, तमाशा, करतब।
खिड़कीरोशनदान, बारी, दरीचा, वातायन,गवाक्ष,झरोखा।
गरुड़खगेश, खगपति, नागांतक, सुपर्ण, वैनतेय।
गायभद्रा, गौरी, सुरभी, धेनु, गऊ, गौ,गैया, पयसि्वनी,दोग्धी।
गंगादेवनदी, भागीरथी, सुरसरिता, जाह्नवी, मन्दाकिनी विष्णुपदी, सुरसरि, देवपगा, त्रिपथगा, सुरधुनी।
गन्नाईक्षु, ऊख, ईख, पौंड़ा।
गणेशगणपति, गजवदन, मूषकवाहन, लम्बोदर . विनायक, गजानन, भवानीनन्दन।
गुप्तगूढ़, रहस्यपूर्ण, परोक्ष, छिपा।
गेंदकन्दुक, गिरिक, गेन्दुक।
गधाखर, वैशाखनन्दन, गर्दभ, रासभ, लम्बकर्ण,धूसर।
गीदड़नचक, शिवां, सियार, जंबुक, श्रृंगाल।
गोदपार्श्व, अंक, उत्संग, गोदी, क्रोड।
घड़ाघट, कलश, कुंभ, घटक, कुट।
घीहव्य, अमृतसार, क्षीरसार, आज्य।
घासशष्प, शाद, शाद्वल, तृण, दूर्वा, दूब।
घृणाअरुचि, नफरत, जुगुप्सा, अनिच्छा, विरति, घिन।
घरआलय, आवास, गेह, गृह, सदन, निवास, भवन, वास, वास
चाँदनीचंद्रिका, कौमुदी, हिमकर, अमृतद्रव, उजियारी,ज्योत्स्न्ना, चन्द्रमरीचि, कलानिधि।
चंदनश्रीखण्ड, गंधराज, गंधसार,मंगल्य, हरिगंध, मलय, दिव्यगंध, मलयज, दारूसार।
चर्मखाल, चमड़ी, त्वचा, त्वक्।
चाँदीजातरूप, रजत, रुपक, रूपा, कलधौत, रूप्य, खर्जूर।
चूहाखंजक, इन्दुर, मूषक, आखु, गणेशवाहन, मूसा।
चोरतस्कर, रजनीचर, मोषक, कुंभिल, साहसिक,दस्यु ।
चोटीश्रृंग, कूट, शिखा, शिखर, शीर्ष, चूड़ा।
चंद्रमासुधाकर, शशांक, रजनीपति ,निशानाथ ,सुधांशु।
चमकज्योति, प्रभा ,शोभा ,छवि, आभा।
चाँदचन्द्र, चन्द्रमा, शशि, सोम, विधु, राकेश, शशांक, मयंक, रजनीश, महाताब, तारकेश्वर।
छाछगोरस, मठा, दधि स्वेद, मट्ठा।
छुट्टीअवकाश, फुर्सत, विश्राम, विराम, रुखसत।
जलनीर, सलिल, जीवन, तोय, उदक, पानी, पय,अंबु, अंभ, रस, आप, आब, वारि ।
जिह्वाजीभ, रसज्ञा, रसा, जबान, रसिका, रसना, वाचा।
जगतविश्व, दुनिया, जगती, संसार, भव, जग, जहान्, लोक।
जहरहलाहल, विष, गरल, कालकूट, गर।
तलवारखड़ग, करवाल, कृपाण, चन्द्रहास, असि, खंग, शमशीर, खंजर ।
तालाबतड़ाग, सर, जलाशय, सरसि,ताल,पद्माकर, पुष्कर, सरोवर।
तांबारक्तधातु, ताम्र, तामा, ताम्रक।
तरकसतूणीर, निषंग, तूणी, उपासंग, इषुधि।
तारातारक, नक्षत्र, तारिका नखत उडुगन सितारा।
तरुणयुवा,जवान, युवक।
तोताशुक, सुआ, सुग्गा, कोर, सुअरा, दाडिमप्रिय, रक्ततुंड।
दीपकप्रदीप, दीप, दीया, ज्योति, चिराग।
दूधपय, क्षीर, गोरस, दुग्ध स्तन्य।
द्रौपदीकृष्णा, पांचाली, सैरंध्री, याज्ञसेनी।
दुःखव्यथा, क्लेश, पीड़ा, कष्ट, संताप, वेदना ।
देवतावृंदारक, अजर, निर्जर, अमर्त्य, अमर, देव, सुर, विबुध, आदित्य।
दुर्जनपामर, खल, बदमाश, दुष्ट ।
दिनअह:, दिवस, वासर, दिवा, वार।
दयाकृपा, अनुकंपा, करुणा, अनुग्रह।
दंगाउपद्रव, उत्पात, शोरगुल, लड़ाई, झगड़ा, फ़साद।
दफाबेर, आवृत्ति, बार।
दलनापीसना, कुचलना, मसलना, नष्ट करना, ध्वस्त करना, तोड़ना, खंडित करना।
दस्ताडंडा, सोंटा, छड़ी, टुकड़ी, दल, समूह।
दुर्दशाबुरी, दशा, खराब, हालत, अवस्था, दुर्गति।
नियतिप्रारब्ध, भाग्य, दैव्य, भावी, होनी।
पृथ्वीभूमि ,अचला, अनंता ,रसा, विश्वंभरा ,स्थिरा ,धरा ,धरित्री, धरनी ,ज्या, काश्यपि, क्षिति, वसुमति, वसुधा, वसुंधरा ,गोधरा, कुः, पृथिवी ,अवनी ,मेदिनी ,मही, विपुला, गह्वरी, धात्री ,गो, ईला, कुम्भिनी, भूतधात्री ,रतनगर्भा, जगती, अंबरा।
पर्वतपहाड़, गिरि, अद्रि, महीधर, भूधर, अचल, शैल, धरणीधर, नग।
नदीसरिता, वाहिनी, अपगा, शैवालिनी, शैलजा, सिंधुगामिनी,तरंगिणी, स्रोतस्विनी, तटिनी।
नम्रसुशील, शिष्ट, विनीत, विनयशील, विनयी।
नावनौका, नौ, जलयान, बेड़ी, डोंगी, नैया, तरिणी,तरी, जल वाहन।
नारदब्रह्मर्षि, ब्रह्म
पत्थरपाषाण पाहन, उपल, अश्म, शिला, प्रस्तर।
पथमग, मार्ग, राह, पंथ, रास्ता।
पंकजकमल, राजीव, पद्म, सरोज, नलिन, जलज।
पगड़ीपगिया, मुरैठा, साफा, प्रतिष्ठा, मान
परोपकारपरहित, भलाई, नेकी, परकाज, परमार्थ, परार्थ।
पुत्रबेटा, तनुज, सूत, आत्मज, तनय।
परतन्त्रपराधीन, परवश,पराश्रित, गुलाम, अधीन।
पार्वतीगिरिजा, अम्बिका, भवानी, गौरी।
पितातात, जनक, जनयिता, बाप , पितृ।
पर्वतभूधर, गिरी, महीधर, शैल, नग, मेरु।
पल्लवकिसलय, पर्ण, पत्ती, कोपल, पात।
पुत्रीतनया, आत्मजा, दुहिता, सुता, बेटी।
प्रगतिविकास, उन्नति, श्रीवृद्धि, तरक्की।
प्रख्यातप्रसिद्ध, विख्यात, मशहूर, यशस्वी।
प्रियाप्रेयसी ,प्यारी ,वल्लभा , प्रभात।
बादलपयोधर, मेघ, जलधर, बलाहक, अंबुद, वारिद, पयोद, नीरद, घन, जलद, वारिवाह।
बंजरअनुपजाऊ, अनुर्वर, ऊसर।
बख़ीलकंजूस, मक्खीचूस, कृपण, खसीस, सूम, मत्सर।
बंदरकपि, मर्कट ,वानर, कपीस ,शाखामृग।
बाघव्याघ्र ,शार्दुल, चित्रक, व्याल।
बादलमेंघ,जलधर, वारिद,नीरद,वारिधर।
बालिकागौरी, कन्या ,बेटी ,कुमारी, किशोरी।
ब्राह्मणविप्र, द्विज, भूसुर, भूदेव,बाभन।
ब्रह्मांडदुनिया ,जगत, विश्व ,संसार ,जगती।
ब्रह्मास्वयंभू, पितामह, विश्व, सृष्टिकर्ता।
बगीचाबाग, उपवन, वाटिका ,उद्यान, निकुंज।
बचपनबालपन ,लड़कपन ,बाल्यावस्था ,बचपना।
बसंतऋतुराज, ऋतुपति ,मधुमास ,कुसुमाकर।
मोक्षकैवल्य, मुक्ति, सद्गति, निर्वाण, परम पद।
मुलाकातमिलन, भेंट, मेल, मिलाप, दर्शन।
मधुपभ्रमर, अलि, भौंरा, भृंग, षट्पद, मधुकर, द्विरेफ, चंचरीक, मिलिंद ।
मुर्गाकुक्कुट, ताम्रचूड़, तमचुर, अरुणशिक, अरुणचूड़।
मेंढकदादुर, दर्दुर, वर्षाभू, मंडूक, भेक, शालूर।
मैनाचित्रलोचना, सारिका, मधुरालया।
मोरशिखी, शिव
मूँगारक्तमणि, रक्तांग, प्रवाल, विद्रुम ।
मोतीमोक्तिक, मुक्ता, शशिप्रभ, सीपिज।
रात्रिराका, निशा ,रजनी ,यामिनी ,विभावरी।
रमाश्रीकमला, विष्णुप्रिया ,इंदिरा ,लक्ष्मीकांता।
राजमहलराजभवन ,राजप्रसाद,राजमंदिर।
राधाहरिप्रिया ,राधिका, ब्रजरानी।
रामरघुपति ,राघव ,रघुनंदन ,रघुवर ,सीतापति।
रावणलंकेश, लंकापति, दशानन दशकण्ठ।
रश्मिकर , अंशु, मरीच, मयूख, किरण।
यमुनाकालिंदी, तरणि
युद्धरण, समर, संग्राम, जंग, लड़ाई।
युवतीतरुणी, श्यामा, रमणी, प्रमदा, सुंदरी, स्त्री, नारी, औरत, वनिता, कांता, वामा, त्रिया ।
यमकीनाश, जीवितेश, श्राद्धदेव, दण्डधर, सूर्यपुत्र,
यमराजअंतक, धर्मराज, कृतान्त ।
यात्रासफर, गमन, तीर्थाटन, प्रयाण, प्रस्थान।
वस्त्रपट , परिधान, अम्बर, वसन, चीर।
वाकिफज्ञाता, जानकार, अनुभवी।
वाणीवचन, गिरा, भारती,भाषा, बोली।
विद्धवानकोविद,विज्ञ, सुधी।
वल्लभपति, प्रियतम, प्रिया, प्राणनाथ।
वृक्षपेड़ , पादप, शाखी, तरु, विटप।
वायुअनिल, समीर, पवन, हवा।
वज्रअशनि, कुलिश, पवि।
विषगर्ल, कालकूट, जहर, हलाहल।
शरीरदेह, काया, तन, बदन, कलेवर, गात, विग्रह।
शत्रुदुश्मन, अरि, रिपु, विपक्षी, अमित्र, अराति, बैरी ।
शिकारीलुब्धक, बहेलिया, आखेटक, अहेरी, व्याध ।
शेरहरि, केसरी, केशी, वनराज, मृगेन्द्र, मृगराज, शार्दूल, सिंह, केहरि, नाहर।
शेषनागधरणीधर, फणीश, सहस्रासन, सर्पपति।
शिवत्रिनेत्र, वामदेव, शंकर, पशुपति, महेश, हर, त्रिलोचन, रुद्र, उमापति, महादेव, नीलकंठ, भूतेश, व्योमकेश ।
संध्यानिशारंभ, दिवावसान, दिवसावसान, दिनांत, सांयकाल, गोधूलि ।
स्वर्गसुरलोक, देवलोक, द्युलोक, नाक ।
स्वरशब्द, ध्वनि, निनाद, रव, मुखर, नाद, घोष।
सुरभिसुगंध, इष्टगंध, घ्राण, तर्पण, सौरभ, सुवास ।
सेनाचमू, दल, कटक ।
सहेलीसखी, सहचरी, सजनी, आली, सैरंध्री।
सूर्यदिनकर, दिवाकर, भास्कर, आदित्य, सविता, अर्क, हरि, रवि, भानु, सहस्रांशु, प्रभाकर, अंशुमाली, दिनेश, मार्तंड, पतंग, पूषा, दिनमणि, अहर्पति, आफताब ।
सर्पसाँप, व्याल, पन्नग, अहि, नाग, विषधर, भुजंग, उरग, सरीसृप ।
समुद्रपारावार, पयोधि, नीरधि, वारिधि, उदधि, जलधि, रत्नाकर, सागर, सिंधु, अब्धि, नदीश।
सरस्वतीवाक्, वाग्देवी, भारती, वाणी, शारदा, वीणापाणि, हंसवाहिनी, वागीश्वरी।
जुगनूप्रभाकीट,पटबीजना।
नसैनीजीना, सीढ़ी, सोपान।
नाऊहज्जाम, हजाम, क्षौरकार, नाई, नाऊठाकुर।
निवेदनविनय, अनुनय, विनती, प्रार्थना, गुजारिश, इल्तजा।
नीरसफीका, बेरस, बेजायका, अस्वाद।
नूतननव, नवल, नव्य, नवीन।
निखट्टूनिकम्मा, आलसी, अकर्मण्य, निठल्ला।
निगोड़ाअकर्मण्य, बेकार, निठल्ला, अभागा, भाग्यहीन, निराश्रम।
निर्धनधनहीन, दरिद्र, दीन, रंक, कंगाल, गरीब।
निर्बलकमजोर, निःशक्त, क्षीण, दुर्बल, दुबला
न्यायाधीशन्यायकर्त्ता, न्यायमूर्ति, जज, धर्माधिकारी।
ढिलाईढीलापन, सुस्ती, आलस्य।
बाणइषु, विशिख, सर, नाराच।
मछलीमीन, मत्स्य, शफ़री, झष, डलूमी, मकर ।
मूर्खजड़, अज्ञ, मूढ़, निर्बुद्धि ।
मुखचेहरा, आनन, मुँह, वदन ।
मदिरासुरा, वारुणी, मद्य, शराब, हाला, दारु, कादम्बरी ।
मृत्युमरण, निधन, स्वर्गवास, देहावसान, देहान्त ।
मुनितापस, यति, संत, साधु, संन्यासी, वैरागी।
मार्गरास्ता, पंथ, पथ, बाट, राह, मग, डगर

पर्यायवाची शब्द से जुड़े प्रश्न

मोर का पर्यायवाची शब्द क्या है?

मोर का समानार्थी शब्द शिखी या शिव है।

घर का पर्यायवाची शब्द क्या है?

आलय, आवास, गेह, गृह, सदन, निवास, भवन, वास, वास

सारंग का पर्यायवाची शब्द क्या है

कमल, जलज, पंकज, अम्बुज, सरोज, शतदल, नीरज, इन्दीवर, सरसिज, अरविन्द…

आगे पढ़ें:

ऐसे ही काम की रोचक जानकारी और Latest Update के लिए फैक्ट दुनिया की Instagram Page को फॉलो करें

Leave a Reply