ओक पेड़ के बारे में 21 अद्भुत जानकारी – Information About Oak Tree in Hindi

आज हम आपको बांज यानि ओक पेड़ के बारे में जानकारी (Oak Tree in Hindi) देने वाले हैं। यह बहुत ही विशालकाय और धरती पर बहुत पुराना पेड़ है इसके बारे में कई सारी अनोखी और मजेदार जानकारियां हैं जिनके बारे में हम आपको आज बताने वाले हैं।

बांज पेड़ (ओक ट्री) के बारे में रोचक जानकारी – Oak Tree in Hindi

1. Oak tree यानि ओक के पेड़ को हिंदी में शाहबलूत, बलूत या बांज कहा जाता है।

2. एक ओक पेड़ (Oak Tree) का सामान्य जीवनकाल लगभग 200 वर्ष होता है, लेकिन कुछ 1,000 से भी अधिक वर्षों से अधिक जीवित रहते हैं।

3. Oak tree इस धरती पर हम इंसानों के पैदा होने से पहले ही मौजूद हैं।

4. ओक के पेड़ पृथ्वी पर 6 करोड़ साल पहले से मौजूद हैं। इतने वर्षों में भी ये पेड़ विलुप्त नही हुए हैं इसके पीछे कारण है इनके बीज जो की एक गोलाकार कठोर आवरण से ढके होते हैं, इसके अलावा इनकी पत्तियों में विशेष प्रकार के एसिड पाए जाते हैं जो कीड़ों को रोकता है।

5. संयुक्त राज्य अमेरिका में Pechanga ग्रेट ओक ट्री नाम का ओक पेड़ सबसे पुराना oak tree है। इसकी आयु 2,000 वर्ष तक होने का अनुमान है।

6. दुनियाभर में ओक ट्री की लगभग 600 प्रजातियां पायी गयी हैं।

7. ओक के पेड़ (Oak Tree) की ऊंचाई लगभग 15 से 21 मीटर (50 से 70 फीट) तक होती है और पूरी तरह से विकसित होने पर इसकी शाखाएं औसतन 15 मीटर (50 फीट) तक फैलते हैं।

8. बसंत के मौसम में इस बांज के पेड़ पर दो तरह के फूल लगते हैं, एक नर फूल और दूसरा मादा फूल। ओक के पेड़ों में उनकी शाखा के एक भाग पर नर फूल और उसी शाखा के दूसरे भाग पर मादा फूल होते हैं।

9. इसका फल एक अखरोट है जिसे एक एकोर्न कहा जाता है, जो की कप के आकार में होते हैं। एकोर्न का उत्पादन 20 से 50 वर्ष की आयु में शुरू होता है। प्रत्येक एकोर्न में एक बीज होते हैं और उनकी प्रजातियों के आधार पर इन्हें परिपक्व होने में 6 से 24 महीने लगते हैं।

acorn-oak-tree-in-hindi

10. पूरे जीवनकाल में एक ओक के पेड़ से लगभग 1 करोड़ एकोर्न मिलते हैं।

11. कई पशु-पक्षियों के लिए ये अखरोट भोजन का एक प्रमुख साधन है। कबूतर, बत्तख, गिलहरी, चूहे और बड़े स्तनधारी, जैसे कि हिरण, सूअर और भालू भी एकोर्न का सेवन करते हैं।

12. इस बात का ध्यान जरुर रखना चाहिए की इसके पत्ते और फल कुत्ते, भेड़, बकरियों और घोड़ों के लिए कभी-कभी जहरीले भी हो सकते हैं। इसे अधिक मात्रा में खिलाने से उनकी जान भी जा सकती है।

13. ज्यादातर एकोर्न जानवरों और पक्षियों द्वारा खा लिया जाता है इसलिए एक अनुमान के मुताबिक लगभग 10,000 एकोर्न (अखरोट) में से केवल एक ही ओक का पेड़ बन पाता है।

14. पर्यावरण की दृष्टी से बांज के पेड़ बहुत ही उपयोगी हैं। इनकी जड़ों में फैलाव और सघनता बहुत अधिक होता है जिससे ये वर्षा जलों को अवशोषित कर उन्हें भूमिगत करने में मदद करते हैं।

15. इस पेड़ की लकड़ियों बहुत ही मजबूत होती हैं और इसीलिए पुराने समय में ओक का उपयोग पानी पर चलने वाले जहाज बनाने के लिए भी किया जाता था।

16. 19 वीं शताब्दी के मध्य तक ब्रिटिश शाही नौसेना के जहाजों का निर्माण भी ओक से ही किया जाता था। आज भी इसका उपयोग फर्नीचर बनाने में किया जाता है।

17. कुछ वाद्य यंत्रो में भी इसकी लकड़ी का उपयोग होता है, यामहा के ड्रम को बनाने के लिए ओक की लकड़ी का उपयोग किया जाता है।

18. ओक की लकड़ी से बने बैरल अक्सर शराब के भंडारण और निर्माण में उपयोग की जाती है। शराब, व्हिस्की, और ब्रांडी सभी ओक बैरल में जमा किये जाते हैं। कहा जाता है की इस बैरल से शराब में एक अलग ही प्रकार का रंग और स्वाद पैदा होता है।

19. ओक के पेड़ों को कई देशों द्वारा राष्ट्रीय पेड़ घोषित किया गया है, 2004 में अमेरिका ने इसे राष्ट्रीय पेड़ घोषित किया था, जो देश की ताकत और मजबूती का प्रतीक था। इसके अलावा यह इंग्लैंड, एस्टोनिया, फ्रांस, जर्मनी, लातविया, लिथुआनिया, पोलैंड, वेल्स और सेर्बी का भी राष्ट्रीय वृक्ष है।

20. ओक के पत्तों को संयुक्त राज्य सशस्त्र बलों के द्वारा सेना रैंकों को दर्शाने के लिए भी किया जाता है। एक silver oak लेफ्टिनेंट कर्नल या एक कमांडर के रैंक को दर्शाता है। एक गोलाकार ओक का पत्ता एक लेफ्टिनेंट कमांडर या मेजर को इंगित करता है।

21. ग्रीक के पौराणिक कथाओं में, ओक के पेड़ को देवताओं के राजा ज़ीउस के लिए एक पवित्र पेड़ कहा गया है।

आगे पढ़ें:

उम्मीद है आपको ओक पेड़ (Oak tree) के बारे में जानकारी (About Oak Tree in Hindi) पढ़कर मज़ा आया होगा। अपनी राय हमें निचे कमेंट बॉक्स में जरूर दें। इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद!

One thought on “ओक पेड़ के बारे में 21 अद्भुत जानकारी – Information About Oak Tree in Hindi

  • June 10, 2020 at 7:01 am
    Permalink

    Quite informative. Thank you

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: