बुध ग्रह के बारे में 15 ज्ञानवर्धक और रोचक जानकारियाँ | Information About Mercury Planet in Hindi

आज हम सूर्य के सबसे नजदीकी ग्रह यानी बुध ग्रह के बारे में कुछ ज्ञानवर्धक और रोचक तथ्य (Information about Mercury planet in Hindi)  बताने वाले हैं जिसके बारे में शायद आपको पता नही होगा।

उम्मीद है आपको यह जानकारी पसंद आएगी, आप इस बारे में अपनी राय कमेंट में जरुर बताएं।

Facts about Mercury Planet in Hindi

1. पृथ्वी पर एक साल में 365 दिन होते हैं लेकिन बुध ग्रह में एक साल में केवल 88 दिन होते हैं।

2. बुध का एक दिन पृथ्वी पर 58.646 ≈ 59 दिन के बराबर है।

3. बुध ग्रह सूर्य का सबसे निकटतम ग्रह है और यही वजह है की दिन के समय इसका तापमान 450 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है।

4. पृथ्वी की तरह बुध का कोई वायुमंडल नहीं है और इसलिए, यह सूर्य की गर्मी को रोककर रखने में सक्षम नहीं है। यही कारण है कि बुध का तापमान शून्य से नीचे 170 डिग्री सेल्सियस तक गिर सकता है।

5. इससे पहले, सौरमंडल का सबसे छोटा ग्रह प्लूटो था। लेकिन ग्रहों की श्रेणी से प्लूटो को निकालने के बाद, बुध हमारे सौर मंडल का सबसे छोटा ग्रह बन गया है। बुध का व्यास केवल 4,876 किलोमीटर है, जो की US के आकार के बराबर है।

6. किसी भी अन्य ग्रहों की तुलना में बुध ग्रह सूर्य के चारों ओर सबसे तेज गति से चक्कर लगाती है। इसकी गति लगभग 180,000 किलोमीटर प्रति घंटा होती है।

7. इतनी गर्मी के बावजूद भी ऐसा माना जाता है की बुध में पानी के बर्फ मौजूद हैं जो की बड़े-बड़े craters यानी गड्ढों के अंदर जमे हुए हैं क्योंकि इन जगहों पर सूरज की रौशनी नही पहुँच पाती और हमेशा ठंडक बनी रहती है।

8. कम से कम 5000 साल पहले से ही हम इंसानों को बुध ग्रह के बारे में पता है। इतिहासकारों के मुताबिक सुमेरियन सभ्यता के लोग बुध को अपने देवता से जोड़कर देखते थे और इसे वे नाबू कहते थे।

9. जैसा की हमने बताया की बुध ग्रह में कोई भी वातावरण नही है इसलिए उल्कापिंड और अन्य टूटे हुए तारे बड़ी आसानी से इससे टकरा सकते हैं यही वजह है की इसकी इसके सतह पर बड़े-बड़े गड्ढे पाए जाते हैं।

10. बुध ग्रह का कोर पूरी तरह से पिघला हुआ है और इसमें पिघला हुआ लोहा शामिल है। बुध के केंद्र में लौह सामग्री सौर मंडल के किसी भी अन्य ग्रह की तुलना में बहुत अधिक है।

11. चूँकि इसके कोर में पिघला हुआ लोहा है जोकि ठंडा होने पर सिकुड़ जाता है जिसकी वजह से बुध की सतह में जगह-जगह झुर्रियों की तरह दिखाई देती हैं जोकि 1 से 100 मील तक फैला हुआ हो सकता है।

12. हम बुध ग्रह को तभी देख सकते हैं जब यह सूर्य के सामने से गुजरता है। यह घटना 7 साल में एक बार होती है जिसे पारागमन कहा जाता है।

13. बुध ग्रह सूर्य के चारो ओर एक अंडाकार (elliptical) कक्षा (orbit) में परिक्रमा करता है इसकी सूर्य से निकटतम दूरी 470 लाख किलोमीटर है जबकि अधिकतम दूरी 7 करोड़ किलोमीटर है।

14. बुध ग्रह में सूर्योदय और सूर्यास्त कुछ अलग ही तरीके से होता है, सूर्योदय के समय सूरज उगता है फिर कुछ देर के लिए डूबने लगता है और फिरसे उगता है। ऐसे ही सूर्यास्त के समय डूबता है और कुछ देर के लिए फिर से उगने लगता है और फिर आखिर में डूब जाता है।

15. बुध ग्रह की गुरुत्वाकर्षण शक्ति बहुत कम है, जो की पृथ्वी के गुरुत्व बल का लगभग 38% है। जिसकी वजह से वातावरण में उपस्थित गैसें उड़ कर बाहर चली जातीं हैं।

हमें उम्मीद है की आपको बुध ग्रह के बारे में ये रोचक जानकारियां पसंद आई होंगी। इसके बारे में आप अपनी राय नीचे कमेंट के माध्यम से हम तक जरुर पहुंचाएं।

Mercury planet in Hindi, Information about mercury planet in Hindi, बुध ग्रह की जानकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: