प्लूटो के बारे में 23 रोचक तथ्य – Amazing Facts About Pluto in Hindi

प्लूटो एक बौना ग्रह है, लेकिन इसे बौना ग्रह क्यों कहते हैं? क्या प्लूटो ग्रह की श्रेणी में नही आता? ऐसे ही कुछ दिलचस्प सवालों के जवाब आपको इस पोस्ट में मिलेंगे। यहाँ आपको प्लूटो के बारे में जानकारी (About Pluto in Hindi) तो मिलेगी  ही साथ ही कुछ ऐसे रोचक और मजेदार ज्ञानवर्धक तथ्य भी जानने को मिलेंगे जिनके बारे में हर किसी को नही पता होता।

प्लूटो से जुडी रोचक जानकारियाँ – About Pluto in Hindi

1. प्लूटो (यम) की खोज 18 फरवरी सन 1930 में Clyde Tombaugh द्वारा Lowell Observatory में किया गया था।2. Pluto का आकार पृथ्वी के आकार का 18.5% है।

3. प्लूटो ग्रह क्यों नही है? 76 सालों बाद प्लूटो को 2006 में एक ग्रह से एक बौने ग्रह की श्रेणी में डाल दिया गया। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि अंतर्राष्ट्रीय खगोलीय संघ (IAU) द्वारा 2006 में ग्रह की परिभाषा में संशोधन किया गया जिसके अनुसार ग्रह की नई परिभाषा कुछ इस तरह है:

  • जो सौरमंडल में सूर्य के चारों ओर परिक्रमा करता हो।
  • उसमे पर्याप्त गुरुत्वाकर्षण बल हो जिससे वह गोल स्वरूप ग्रहण कर सकें।
  • उसके आस पास का परिक्रमा क्षेत्र साफ हो, अन्य खगोलीय पिंड न हों।

और इस परिभाषा के अनुसार प्लूटो (यम) को ग्रह नही कहा जा सकता। इसलिए इसे ग्रह की श्रेणी से हटा दिया गया।

4. प्लूटो जब सूर्य के सबसे नजदीक होता है तब इसका वायुमंडल जहरीली गैसों से भरा होता है। जब यह सूर्य से बहुत दूर होता है तो इसका वायुमंडल जम जाता है और बर्फ की तरह गिरने लगता है।5. प्लूटो में दिन और रात का समय बहुत ही लम्बा होता है। यहाँ एक दिन का समय पृथ्वी के 6 दिन 9 घंटे 36 मिनट के बराबर होता है।6. इसके घूमने की रफ्तार धीमी होने की वजह से Pluto में एक साल का समय पृथ्वी के 248 साल के बराबर होता है।

Amazing facts about Pluto in Hindi

7. प्लूटो का एक तिहाई हिस्सा पानी है। यह पानी बर्फ के रूप में है जो पृथ्वी के सभी महासागरों की तुलना में 3 गुना अधिक है, शेष दो तिहाई चट्टाने हैं। प्लूटो की सतह बर्फ से ढकी हुई है, इसमें कई पर्वत श्रृंखलाएं और गहरे अँधेरे गड्ढे हैं।

8. प्लूटो पृथ्वी के विपरीत दिशा में घूमता है, जिसका अर्थ है कि यहाँ सूर्य पश्चिम दिशा से उगता है और पूर्व में डूबता है।

9. अगर पृथ्वी पर आपका वजन 45 किलो है तो प्लूटो पर आपका वजन लगभग 3 किलो होगा।

10. प्लूटो तक पहुंचने में सूरज की रोशनी को लगभग पांच घंटे लगते हैं। जबकि इसे पृथ्वी तक पहुँचने में आठ मिनट लगते हैं।11. दरअसल pluto का orbit कुछ इस तरह है की यह सूरज से सबसे दूर भी जा सकता और इसके नजदीक भी आ सकता है।12. Neptune सूर्य के सबसे पास घूमने वाला आठवां ग्रह है, लेकिन Neptune की तुलना में प्लूटो सूरज के ज्यादा नजदीक जा सकता है।
14. जब प्लूटो को एक ग्रह माना जाता था, तब यह सभी ग्रहों में से सबसे ठंडा ग्रह था। प्लूटो पर तापमान -240 ° से -218 ° C तक हो सकता है।

Interesting Information About Pluto in Hindi

15. प्लूटो के अपने पांच चन्द्रमा (उपग्रह) हैं:

  • Charon ( इसकी खोज 1978 में हुई)
  • Hydra (इसे 2005 में खोजा गया)
  • Nix (इसे भी 2005 में पाया गया)
  • Kerberos (P4) (2011 में इसकी खोज हुई )
  • Styx (P5) (इसकी पहचान 2012 में हुई)

Moons of Pluto in Hindi

Image credit: NASA/M. Showalter

16. इन सभी में से Charon सबसे बड़ा उपग्रह है।

17. Charon और प्लूटो के आकार लगभग सामान हैं, इसलिए खगोलविद कभी-कभी दोनों को दोहरे ग्रह के रूप में भी जानते हैं।

18. लोवेल वेधशाला (Lowell Observatory) में प्लूटो की पहचान होने से पहले, अन्य वेधशालाओं में खगोलविदों ने अनजाने में प्लूटो की 16 तस्वीरें लीं थीं। जिसमे से सबसे पुरानी तस्वीर यार्क्स वेधशाला (Yerkes Observatory) द्वारा 20 अगस्त, 1909 को लिया गया था।
19. प्लूटो पर अभी तक सिर्फ एक अंतरिक्ष यान द्वारा दौरा किया गया है। न्यू होराइजन्स नाम के इस अंतरिक्ष यान को 2006 में लॉन्च किया गया था, जिसने 14 जुलाई 2015 को प्लूटो के ऊपर से उड़ान भरकर तस्वीरों और अन्य जानकारियों को एकत्रित किया। न्यू होराइजन्स अब और भी दूर की वस्तुओं का पता लगाने के लिए क्विपर बेल्ट के रास्ते पर है।

20. क्विपर बेल्ट दरअसल एक ऐसा region है जो की हमारे सोलर सिस्टम से बाहर है। हमारे सारे 8 ग्रह इस Kwiper belt के अंदर हैं।

Image credit: NASA

21. क्विपर बेल्ट में मौजूद सभी objects में से सबसे चमकदार दिखाई देना वाला object प्लूटो ही है।

22. न्यू होराइजन द्वारा लिए गये तस्वीरों को रेडियो सिग्नल्स के जरिये प्लूटो से धरती तक पहुँचने में 16 महीने का समय लगा था।23. Pluto के वातावरण में 97% नाइट्रोजन (N2), 2.5% मीथेन (CH4) और 0.5% कार्बन मोनोऑक्साइड (CO) मौजूद है।
आपको प्लूटो के बारे में ये जानकारियाँ (About Pluto in Hindi) कैसी लगी हमें जरूर बताएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: