आदर्श विद्यार्थी पर निबंध 100, 150, 250, 500 Words

आज हम आदर्श विद्यार्थी पर निबंध लेकर आये हैं। यह निबंध ज्यादातर स्कूल में Class 6, 8, 9 आदि में हिंदी की परीक्षाओं में पूछे जाते हैं। कई बार हमें कम शब्दों में निबंध लिखने होते हैं तो कई बार हमें विस्तार से निबंध लिखना होता है। इसलिए आज हम short, medium और long सभी तरह के निबंध लेकर आये हैं। निचे आदर्श विद्यार्थी पर निबंध 100 शब्दों में, 150 words में, 250 और 500 शब्दों में लिखे गये हैं। हमें उम्मीद है की यह निबंध आपके काम आयेगी।

आदर्श विद्यार्थी पर निबंध 100 Words 

विद्यार्थी जीवन हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण पड़ाव होता है। इस जीवन को मनुष्य जीवन की आधारशिला कहा जा सकता है। विद्यार्थी जीवन में व्यक्ति जो कुछ भी सीखता है और जो भी आदतें अपने जीवन में समाहित करता है वही आगे चलकर उसके जिंदगी की दिशा तय करती हैं। इस समय में विद्यार्थी अच्छी पढाई करके, अच्छा आचरण और सद्गुणों को सीखकर अपने आने वाले भविष्य को बेहतर बना सकता है। वहीँ इसके विपरीत भी हो सकता है, कुसंगति, गलत आचरण और नकारात्मक चीजों में पड़ कर व्यक्ति अपने जीवन को बर्बाद कर सकता है। हर विद्यार्थी को एक आदर्श विद्यार्थी बनना चाहिए क्योंकि एक आदर्श विद्यार्थी हमेशा सच्चे रास्तों पर चलता है, मेहनत और लगन से पढाई कर अपने भविष्य को बेहतर बना लेता है। ऐसे सफल विद्यार्थी अन्य छात्र-छात्राओं के लिए एक आदर्श बन जाते है।

आदर्श विद्यार्थी पर निबंध 150 Words 

एक आदर्श विद्यार्थी वह है जो मेहनत और लगन से पढ़ाई करता है। आदर्श विद्यार्थी अपने गुरुओं का हमेशा सम्मान करता है, स्कूल के बनाए नियम कानून पर चलता है। वह हमेशा अपने से बड़ों का आदर करता है। स्कूल में सभी बच्चों से मिलजुल कर रहता है। ऐसे ही विद्यार्थी आदर्श छात्र कहलाते हैं। एक आदर्श विद्यार्थी सद्गुणों को अपने अंदर समाहित करके, हमेशा अपने माता-पिता, गुरुजनों, और स्कूल का नाम रोशन करता है । 

वह अपने पीछे कुछ न कुछ ऐसा छोड़कर जाता है, जिसे आने वाली पीढ़ी अनुसरण करती है। उसे समय का महत्व पता होता है और सही समय पर सही काम करने वाला व्यक्ति ही आगे चलकर अपने जीवन में सफल हो पाता है। इसलिए वह अपना ज्यादा से ज्यादा समय अपनी पढ़ाई में ही व्यतीत करता है। आदर्श विद्यार्थी की दिनचर्या में पढ़ाई का महत्वपूर्ण स्थान होता है। वह सिर्फ पढाई ही नही बल्कि खेलकूद, ज्ञानवर्धक किताबें पढना, नयी-नयी चीजें सीखना, स्वस्थ खानपान आदि को भी अपनी दैनिक दिनचर्या में शामिल करता है।

आदर्श विद्यार्थी पर निबंध 250 शब्दों में 

एक आदर्श विद्‌यार्थी नैतिकता, सत्य व उच्च आदर्शों पर पूर्ण आस्था रखता है। वह प्रतिस्पर्धा को उचित मानता है परंतु परस्पर ईर्ष्या व द्‌वेष भाव से सदैव दूर रहता है। अपने से कमजोर छात्रों की सहायता में वह सदैव आगे रहता है तथा उन्हें भी परिश्रम व लगन से अध्ययन करने हेतु प्रेरित करता है ।एक आदर्श विद्यार्थी हमेशा से अपने दोस्तों के साथ मिल जुलकर रहता है। इसके अलावा उसे पता होता है कि कैसे उसे अपने परीक्षा की तैयारी करना है। जिससे पूरे स्कूल में वह सबसे अच्छा नंबर ला सकें। 

एक आदर्श छात्र अपनी कमियों को कभी कमजोरी नही बनने देता है। अपनी कमजोरियों को अपनी सहपाठी, गुरुजनों और माता-पिता की मदद से जल्द से जल्द ठीक करने की कोशिश करता है। ऐसे विद्यार्थी खेल-कूद और प्रतियोगिताओं में भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते है। साथ ही जीत हासिल करना ही उसका पहला लक्ष्य होता है। आदर्श विद्यार्थी खेल कूद में भी आगे रहते है। उन्हे केवल पुस्तक का ज्ञान ही नहीं वल्कि सर्वांगीण विकास करना होता है। अत: एक आदर्श विद्‌यार्थी पढ़ाई के साथ खेल-कूद व अन्य कार्यकलापों को भी उतना ही महत्व देता है। खेल-कूद व व्यायाम आदि भी महत्वपूर्ण हैं क्योंकि इनके बिना शरीर स्वस्थ और मजबूत नहीं होता है। इसका संबंध मस्तिष्क के विकास से भी है। कक्षा में पढ़ाई जानें वाली हर चीजों को आदर्श विद्यार्थी बड़े ही चाव से सुनता है और उसे अपनी जिंदगी में उतारता है । 

आदर्श विद्यार्थी पर निबंध 500 Words 

एक आदर्श विद्यार्थी का जीवन सादा होता है। लेकिन उनके विचार बहुत उच्च होते हैं। आदर्श विद्यार्थी हमेशा से निर्भीक और निडर होते है । वह अपने कामों को लेकर हमेशा जागरूक रहता है। एक आदर्श विद्यार्थी के अंदर सकारात्मक कौशल और आदतें होती हैं जो उसे सबसे अलग बनाती हैं। आदर्श विद्यार्थी के अंदर जो सबसे बड़ी बात है वह है ईमानदारी। कैसी भी परिस्थिति क्यों न हो एक आदर्श विद्यार्थी कभी भी झूठ नही बोलता है। ऐसे छात्र ही देश की समृद्धि और सर्वांगीण विकास में मदद कर सकते है। आदर्श छात्र निश्चित रूप से राष्ट्र को एक सफल भविष्य की ओर लेकर जाते है । 

प्रस्तावना 

विद्या+अर्थी से मिलकर बनता है विद्यार्थी। मतलब विद्या को अपने अंदर समाहित करने वाला। जिसमे एक अच्छे विद्यार्थी के सभी गुण पाए जाते हैं उसे आदर्श विद्यार्थी कहा जाता है। ऐसे लोग हमेशा सही मार्ग पर चलते हैं और जहां भी रहते हैं अपनी एक अलग पहचान बनाते हैं। आदर्श विद्यार्थी हमेशा से अपने माता-पिता, बड़े बुजुर्गों की सेवा करने में भी आगे रहते है। उनकी द्वारा कही हुई हर बात को आज्ञा स्वरूप ग्रहण कर उसका पालन करते हैं। कोई भी विद्यार्थी जन्म के समय में आदर्श विद्यार्थी नही होता है वह समय के साथ अपने अंदर जैसे जैसे अच्छी आदतों को समाहित करता है आदर्श विद्यार्थी कहलाता जाता है। वह अपने व्यक्तित्व के विकास में रुचि रखता है। आदर्श विद्यार्थी उच्चतम चरित्र का और आशावादी होता है। वह सबके लिए एक प्रेरणास्रोत होता है।

आदर्श विद्यार्थी मेहनत से अच्छे अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों में से एक होता है। आदर्श विद्यार्थी उसे कहते हैं जो विद्यालय द्वारा बनाए गए सभी नियमों का पालन करता है, सभी शिक्षकों और गुरुजनों का सम्मान करता है। हमारे देश का भविष्य इन्ही आदर्श विद्यार्थी पर टिका हुआ है। यह जितने अच्छे से पढ़ेंगे उतने ही अच्छे से देश के विकास में अपना योगदान दे पायेंगे। एक आदर्श विद्यार्थी हर जगह अपना 100% देता है। किसी भी कार्य को वो मन लगाकर करता है और कभी अधूरा नही छोड़ता। आज इस डिजिटल की दुनिया में आदर्श विद्यार्थी बनना और भी आसान है। हम कोई भी जानकारी आसानी से ले सकते हैं, नयी-नयी चीजें सीख सकते हैं। 

निष्कर्ष 

एक आदर्श विद्यार्थी बनने के लिए कड़ी मेहनत और तपस्या करनी पड़ती है। आदर्श विद्यार्थी सिर्फ परीक्षाओं में ही अव्वल नही आते बल्कि वे हर उस कौशल को सीखने में मेहनत लगाते हैं जिससे उनका भविष्य बेहतर हो सके। हर माता पिता को अपने बच्चों के अंदर अच्छे गुणों को डालकर उसे अच्छा छात्र बनाने की कोशिश करना चाहिए। एक देश का विकास भी तभी संभव है जब उसके यह के छात्र, होनहार और ईमानदार होंगे। आज के समय में अपने देश में आदर्श विद्यार्थी की बहुत आवश्यकता है।

 आगे पढ़ें:

ऐसे ही काम की रोचक जानकारी और Latest Update के लिए फैक्ट दुनिया की Instagram Page को फॉलो करें

Leave a Reply